Top 20 Best New Hindi Paheliyan With Answer 2020 – Latest Paheliyan

Hindi Paheliyan with Answer में आपका स्वागत है। एक बार फिर हम आपके लिए लेकर आए हैं हिंदी पहेलियाँ उत्तर के साथ। इन हिंदी पहेलियों को हम मजाकिया (Funny) सवाल – जवाब भी कह सकते हैं। अगर आपहिंदी पहेलियों की तलाश में हैं तो यह Website आपके लिए ही है क्योंकि इसमें हम आपके लिए रोज लेकर आते हैं पहेलियाँ ही पहेलियाँ। तो मज़ा लीजिए इन सरल हिंदी पहेलियों का और हमें बताइए कि आपको ये हिंदी पहेलियाँ कैसी लगीं।

Hindi Paheliyan with Answer

सींग हैं पर बकरी नहीं,
काठी है पर घोड़ी नहीं।
ब्रेक हैं पर कार नहीं,
घंटी है पर किवाड़ नहीं।।

साइकिल
सर है, दुम है, मगर पांव नहीं उसके।
पेट है, आँख है, मगर कान नहीं उसके।।

साँप
टोपी है हरी मेरी,
लाल है दुशाला।
पेट में अजीब लगी,
दानों की माला।।

मिर्च
काला रंग मेरी है शान,
सबको मैं देता हूँ ज्ञान।
शिक्षक करते मुझ पर काम,
नाम बताकर बनो महान।।

ब्लैक-बोर्ड
बिन खाए, बिन पिए,
सबके घर में रहता हूँ 
ना हँसता हूँ, ना रोता हूँ,
घर की रखवाली करता हूँ।।

ताला
Aap padh rahe hain Hindi Paheliyan with Answer
बीमार नहीं रहती,
फिर भी खाती है गोली।
बच्चे-बड़े सब डरते हैं,
सुनकर इसकी बोली।।

बन्दूक
हरी थी, मन भरी थी,
लाख मोती जड़े थी।
राजाजी के बाग में,
दोशाला ओढ़े खड़ी थी।।

भुट्टा
कान हैं पर बहरी हूँ,
मुँह है पर मौन हूँ।
आँखें हैं पर अंधी हूँ
बताओ मैं कौन हूँ।।

गुड़िया
पत्थर पर पत्थर,
पत्थर पर पैसा।
बिना पानी के घर बनाए,
वह कारीगर कैसा।।

मकड़ी
बिना पांव के दौड़ लगाता,
जहरीला हूँ मैं कहलाता।
साल में एक दिन पूजा करते,
नाम से मेरे सब हैं डरते।।

साँप
आज अगर मैं ताजा हूँ,
तो कल हो जाता बासी।
दुनिया की ख़बरें देता
तुमको अच्छी खासी।।

अखबार
गोल-गोल हूँ, नरम-नरम हूँ,
आधी फल हूँ, आधी फूल।
जिसने मुझको खाकर देखा,
कभी न पाया मुझको भूल।।

गुलाब-जामुन
काली हूँ, कलूटी हूँ,
काले वन में रहती हूँ।
लाल खून पीती हूँ,
सफ़ेद अंडे देती हूँ।।

जूँ
तीन अक्षर का मेरा नाम,
खाने के आता हूँ काम।
मध्य कटे हवा हो जाता,
अंत कटे तो हल कहलाता।।

हलवा
जन्म दिया रात ने,
सुबह ने किया जवान।
दिन ढलते ही,
निकल गई इसकी जान।।

समाचार-पत्र
Aap padh rahe hain Hindi Paheliyan with Answer
एक फूल है काले रंग का,
सिर पर सदा सुहाए।
तेज धूप में वो खिल जाता,
छाया में मुरझाए।।

छाता
नाक को पकड़कर,
खींचता है कान।
कोई नहीं इसे कुछ कहता,
बताओ उसका नाम।।

चश्मा
एक बस्तु को मैंने देखा,
जिस पर हैं दांत।
बिना मुख के बोलकर,
करे रसीली बात।।

हारमोनियम
एक राजा की अनोखी रानी।
दुम के रास्ते पीती पानी।।

दीपक
उसे रात भर नींद न आए,
औरों के घर घुस जाए।
जब तक घर का कोई जागे,
जो पा जाए लेकर भागे।।

चोर
अगर आप भी हमें कोई पहेली हमें भेजना चाहते हैं तो भेज सकते हैं। आप हमें अपनी पहेलियाँ हमारे Contact Us Page में जाकर दिए गए Form के द्वारा आसानी से भेज सकते हैं। इसके अलावा अगर आप हमें अपना कोई बहुमूल्य सुझाव देना चाहते हैं या हमसे किसी तरह से कोई सम्पर्क करना चाहते हैं तो भी कर सकते हैं।

धन्यवाद,  आपका अग्रिम समय शुभ हो।